मोदी सरकार: India Canada Row। कनाडा के पीएम जस्टिन ट्रूडो कई बार खुलेआम खालिस्तानी आतंकियों के समर्थन में खड़े दिखे। पिछले तीन दिन यानी 72 घंटों में दोनों देशों के बीच कई ऐसी घटनाएं घटी जिसकी वजह से दोनों देशों के रिश्तों के बीच दरार और भी बढ़ चुके हैं। पीएम ट्रूडो के बयान से लेकर भारत द्वारा कनाडा नागरिकों की वीजा सेवा को निलंबित किए जाने तक समझें क्या कुछ हुआ।

नई दिल्ली, ऑनलाइन डेस्क। India Canada Row। भारत और कनाडा के रिश्तों में हर बीते वक्त के साथ और भी तल्खियां बढ़ती जा रही है। खालिस्तान का समर्थन करने वाले आतंकियों को पनाह देने वाला कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो  (Prime Minister Justin Trudeau) के एक बेतुके बयान से दोनों देशों के रिश्ते बिगड़ चुके हैं।

एक तरफ जहां मोदी सरकार लगातार कनाडा से खालिस्तानी आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग करती आई है, वहीं कनाडा के पीएम ने कई बार खुलेआम खालिस्तानी आतंकियों के समर्थन में खड़े दिखे। पिछले तीन दिन यानी 72 घंटों में दोनों देशों के बीच कई ऐसी घटनाएं घटी, जिसकी वजह से दोनों देशों के रिश्तों के बीच फासला और भी बढ़ गया

कनाडा के खिलाफ मोदी सरकार के तीन बड़े फैसले
कनाडा के खिलाफ मोदी सरकार के तीन बड़े फैसले

आतंकी की मौत पर पीएम ट्रूडो ने दिया बेतुका बयान

खालिस्तानी समर्थक हरदीप सिंह निज्जर की इसी साल 18 जून को कनाडा के सर्रे शहर में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। इस हत्या को लेकर कुछ दिनों पहले को कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने सोमवार को आतंकी हरदीप सिंह निज्जर की हत्या के पीछे भारत सरकार पर आरोप लगाया।

उन्होंने दावा किया कि कनाडा की सुरक्षा एजेंसियां इस बात की जांच कर रही हैं कि क्या हरदीप सिंह की हत्या के पीछे भारतीय एजेंसियों का हाथ है। वहीं, कनाडा ने भारतीय राजनयिक को निष्कासित भी कर दिया।

भारत ने दिया करारा जवाब

पीएम ट्रूडो के बयान पर भारतीय विदेश मंत्रालय ने तुरंत जवाबी प्रतिक्रिया दी। भारत सरकार ने कनाडा के आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि ऐसे आरोप खालिस्तानियों और चरमपंथियों से ध्यान हटाने के लिए लगाए जा रहे हैं।

भारतीय विदेश मंत्रालय ने मंगलवार सुबह (19 सितंबर) पीएम ट्रूडो आरोपों को निराधार करार दिया है। वहीं,  भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा कि पीएम द्वारा दिए गए ऐसे बयान खालिस्तानी आतंकवादियों और चरमपंथियों से ध्यान हटाने की एक कोशिश है, जिसे कनाडा में आश्रय मिलता रहा है।

कनाडा के खिलाफ मोदी सरकार के तीन बड़े फैसले
कनाडा के खिलाफ मोदी सरकार के तीन बड़े फैसले

वहीं, मंगलवार के दिन भारत ने कनाडा के उच्चायुक्त कैमरून मैके को तलब किया। भारत के कनाडाई राजनयिक को निष्कासित करने का फैसला भी लिया गया है। विदेश मंत्रालय ने कहा,”भारत में कनाडा के उच्चायुक्त को आज तलब किया गया और भारत में स्थित एक वरिष्ठ कनाडाई राजनयिक को निष्कासित करने के भारत सरकार के फैसले के बारे में सूचित किया गया।

सतर्क को हो कर भारतीय करें कनाडा की यात्रा:भारत

बुधवार को भारत ने कनाडा को परोक्ष तौर पर भारतवासियों के लिए एक असुरक्षित देश के तौर पर चिह्नित किया और वहां रहने वाले या वहां की यात्रा की योजना बना रहे भारतवासियों को अत्यधिक सतर्कता बरतने की सलाह दी।

मोदी सरकार fans

विदेश मंत्रालय द्वारा जारी एडवाइजरी में कहा गया,”कनाडा में बढ़ती भारत विरोधी गतिविधियों, राजनीतिक रूप से प्रेरित घृणा अपराध और आपराधिक हिंसा की वजह से वहां रहने वाले सभी भारतीय या वहां जाने को तैयार भारतीय बहुत ज्यादा सतर्कता बरतें।’ एक दिन पहले कनाडा ने भी भारत जाने वाले अपना नागरिकों को एडवाइजरी जारी कर सतर्क रहने को कहा था।

भारतीय विदेश मंत्रालय ने आगे कहा है कि हाल ही में देखा गया है कि कनाडा में रहने वाले राजनयिकों और भारत विरोधी गतिविधियों का विरोध करने वाले भारतीय समुदाय के लोगों को धमकाया गया है। ऐसे में कनाडा के जिन क्षेत्रों में इस तरह की गतिविधियां होने की संभावना है, वहां भारतीय लोग यात्रा ना करें। कनाडा के खराब हालात को देखते हुए भारतीयों छात्रों को खास तौर पर अत्यधिक सतर्कता बरतने की सलाह दी गई है।

भारत ने कनाडा के नागरिकों के लिए किया वीजा सेवा निलंबित

वहीं, गुरुवार को दो बड़ी घटनाएं घटी। सबसे पहले कनाडा में गैंगस्टर सुखदूल सिंह उर्फ सुक्खा दुनिके (Sukhdool Singh aka Sukha Duneke) गोली मारकर हत्या कर दी गई है। वो खालिस्तानी समर्थक अर्शदीप सिंह का करीबी था। लारेंस बिश्नोई ने इस हत्या की जिम्मेदारी ली।

इसके बाद भारत ने कनाडा के खिलाफ बड़ा एक्शन लेते हुए भारत ने कनाडा के नागरिकों के लिए वीजा सेवा निलंबित कर दिया गया है। जानकारी के मुताबिक, अगली सूचना तक सेवाएं निलंबित कर दी गई है

Also read this https://indiapresstv.com/category/news/

Follow Us  on https://www.instagram.com/indiapresstv/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *